साधारण और सामान्य में मुख्य अंतर क्या है?

साधारण और सामान्य में से अगर मैं आपको कहूँ कि आपने बहुत साधारण काम किया है, तो आप इसका क्या मतलब निकालेंगे। वहीं अगर मैं कहूँ कि आपका काम सामान्य है तो क्या आप वही मतलब निकालेंगे। शायद नहीं!

इस लेख में हम साधारण और सामान्य (ordinary and common) पर सरल एवं सहज चर्चा करेंगे एवं इसके मध्य के अंतर को समझने का प्रयास करेंगे, तो लेख को अंत तक जरूर पढ़ें;

साधारण और सामान्य

| साधारण और सामान्य

कुछ इंग्लिश के ऐसे शब्द है जो दोनों का एक सा अर्थ प्रकट करते हैं। जैसे कि General शब्द को ही लें तो जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल हम साधारण के सेंस में भी कर लेते हैं और सामान्य के सेंस में भी।

◼️ इसी प्रकार simple शब्द को लें तो ये इस शब्द का इस्तेमाल भी दोनों के लिए एक सा ही कर दिया जाता है। इससे ऐसा लगता है जैसे इन दोनों शब्दों में कोई अंतर नहीं है।

पर जैसे ही हम साधारण के लिए ordinary और सामान्य के लिए common शब्द का इस्तेमाल करते हैं तो इन दोनों के अर्थ स्पष्ट होने लगते हैं।

इन दोनों शब्दों को केंद्र में रखकर आइये दोनों में कुछ अंतर स्पष्ट करते हैं।

| साधारण मतलब क्या?

◼️ ऐसी चीज़ें या वस्तुएँ जो प्राय: हर जगह उपलब्ध हो और जो सहज, सरल और सुगम हो, तथा गुण, स्वभाव आदि की दृष्टि से कोई विशेषता न हो, तो वे चीज़ें साधारण कहलाती हैं।

◼️ चूंकि ऐसी वस्तुओं में अपनी कोई खास विशेषता नहीं होती तथा ये सभी के समझने और करने लायक होती हैं इसीलिए अक्सर इसके लिए ‘औसत दर्जे का’ शब्द इस्तेमाल किया जाता है।  

◼️ साधारण में जब ‘अ’ जुड़ जाता है तो असाधारण बन जाता है, जिसे कि अँग्रेजी में एक्सट्राओर्डिनरी (Extraordinary) कहा जाता है। मतलब ये कि जिसकी अपनी कोई विशिष्ट पहचान न हो वो साधारण आदमी है, जबकि असाधारण व्यक्ति में विशेष गुण, प्रतिभा और विलक्षनता होता है जिससे वो कहीं भी अपनी विशिष्ट पहचान बना लेता है। 

| सामान्य मतलब क्या?

◼️ यदि दो या दो से अधिक वस्तुओं या चीजों में समान लक्षण या समान विशेषताएँ मिलती हैं, तो ऐसी वस्तुएँ सामान्य कहलाती हैं; जैसे-तेज बुखार, सूखी खाँसी और सांस लेने में तकलीफ कोरोना के सामान्य लक्षण है। 

◼️ अक्सर सामान्य वस्तुएँ आश्चर्य में नहीं डालती और न ही इन्हें देख कर किसी प्रकार की जिज्ञासा पैसा होती है।

◼️ हमलोग अक्सर सामान्य को ‘ठीक-ठाक’ के सेंस में भी इस्तेमाल करते हैं। जैसे – वह पढ़ने में ज्यादा तेज तो नहीं पर ठीक-ठाक ही है। 

◼️ सामान्य में ‘अ’ जुड़ने से असामान्य बनता है। जैसे किसी व्यक्ति की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होती है तो, उसे असामान्य यानी एबनॉरमल कहा जाता है। 

| साधारण और सामान्य में कुल मिलाकर अंतर

◼️ कुल मिलाकर देखें तो सामान्य का दर्जा साधारण से थोड़ा ऊंचा होता है; जैसे- उन दोनों लड़कियों में से एक तो देखने में साधारण है और वहीं दूसरी सामान्य है।

◼️ उसकी साधारण सी बीमारी ने खतरनाक रूप धारण कर लिया था लेकिन थैंक गॉड अब वे सामान्य हैं । 

◼️ अब आप समझ गए होंगे कि जनरल नॉलेज को क्यों सामान्य ज्ञान कहा जाता है, साधारण ज्ञान क्यों नहीं। 

◼️◼️◼️

संबंधित अन्य लेख

सत्यनिष्ठा और ईमानदारी में अंतर
Integrity and Honesty difference
जानने और समझने में अंतर होता है?
हंसी और दिल्लगी में अंतर क्या है?
Attitude and Aptitude differences
अभिवृति और अभिक्षमता में अंतर
एथिक्स और नैतिकता में अंतर को समझिए
पकड़ना और थामना में अंतर क्या है?
सहानुभूति और समानुभूति में अंतर
क्षमता और योग्यता में अंतर
समाचार और संवाद में अंतर

हरण और अपहरण में अंतर क्या है?
पीड़ा और यंत्रणा में अंतर
चिंतक और दार्शनिक में अंतर
सभ्यता और संस्कृति में अंतर
प्रशासन और प्रबंधन में अंतर
बल और सामर्थ्य में अंतर क्या है?

आमंत्रण और निमंत्रण में अंतर क्या है?
संधि और समझौता में अंतर
र और मकान में मुख्य अंतर क्या है?
निवेदन और प्रार्थना में मुख्य अंतर
शंका और संदेह में मुख्य अंतर क्या है?

संस्था और संस्थान में मुख्य अंतर 
शिक्षा और विद्या में अंतर
चेतावनी और धमकी में अंतर

डाउनलोड साधारण और सामान्य में अंतर pdf

पसंद आया तो शेयर कीजिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *