Daily Polity Test

Free Daily Polity Test for UPSC & PCS


Daily Polity Test में आज का टेस्ट “◾ संसदीय विशेषाधिकार (Parliamentary Privileges)↗️” चैप्टर पर आधारित है। अगर आपने इसे नहीं पढ़ा और समझा है तो कृपया पहले इसे समझ लें।

◾ हर सोमवार से शुक्रवार तक आप भारतीय राजव्यवस्था एवं संविधान से संबन्धित अलग-अलग चैप्टर पर नियमित रूप से टेस्ट दे पाएंगे।

◾ हर दिन 10 बजे टेस्ट अपलोड कर दिया जाएगा, जो कि उस रात के 10 बजे तक उपलब्ध रहेगा। तो आप इस लिंक को आप bookmark कर लें।

◾ टेस्ट से संबन्धित बाकी के निर्देशों के लिए आगे पढ़ें;  

| Today’s Topic

संसदीय विशेषाधिकार (Parliamentary Privileges)↗️

निर्देश (Instructions)


कृपया टेस्ट शुरू करने से पहले निर्देश पढ़ लें;

  1. पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि दिए गए टॉपिक को आपने पहले ही पढ़ और समझ रखा है।
  2. फिलहाल आपको किसी प्रकार की साइन अप या साइन इन करने की जरूरत नहीं है।
  3. प्रश्नों के संख्या के आधार पर आपको एक निश्चित समय दिया जाएगा, जिसे कि आप ऊपर देख पाएंगे;
  4. प्रश्न आपको प्राथमिक रूप से हिन्दी में मिलेंगे, लेकिन अगर आपको प्रश्न समझने में दिक्कत आए तो आप Upper Left Corner पर स्थित ℹ️ बटन पर क्लिक करके उस प्रश्न का इंग्लिश अनुवाद देख सकते हैं;
  5. बेहतरीन अनुभव लेने के लिए आप [ ] बटन पर क्लिक करके Full Screen Mode में टेस्ट दे सकते हैं।
  6. Result पेज पर आप अपना मूल्यांकन कर पाएंगे और सभी सवालों का Explanation आप वहाँ देख पाएंगे।
  7. प्रश्नों से संबन्धित किसी जानकारी के लिए आप हमारे Facebook Group या/और Telegram Group जॉइन कर सकते हैं;
📌 Join Telegram📌 Join FB Group
अगर टेलीग्राम लिंक काम न करे तो सीधे टेलीग्राम पर जाकर सर्च करें – @upscandpcsofficial

Start Daily Polity Test


/8
0 votes, 0 avg
29

Chapter Wise Polity Quiz

संसदीय विशेषाधिकार: अभ्यास प्रश्न

Parliamentary Privileges Quiz

  1. Number of Questions - 8
  2. Passing Marks - 75  %
  3. Time - 8 Minutes
  4. एक से अधिक विकल्प सही हो सकते हैं।

What type of privileges are provided to the Members of Parliament under Parliamentary Privileges?

  1. Freedom of speech and expression within Parliament and its committees.
  2. Right to publish any proceedings of Parliament or its committees.
  3. Immunity from legal action for anything said or done within Parliament or its committees.

1 / 8

संसदीय विशेषाधिकार के अंतर्गत संसद सदस्यों को किस प्रकार के विशेषाधिकार प्रदान किए जाते हैं?

  1. संसद और इसकी समितियों के भीतर भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता।
  2. संसद या उसकी समितियों की किसी भी कार्यवाही को प्रकाशित करने का अधिकार।
  3. संसद या इसकी समितियों के भीतर कही गई या की गई किसी भी बात के लिए कानूनी कार्रवाई से उन्मुक्ति।

Which of the following is not a collective privilege?

  1. It can exclude guests from its proceedings.
  2. It can make rules for the conduct and management of its proceedings and for the decision of these matters.
  3. It may issue warnings or punishments for breach of privileges.
  4. If it wants, it can adjourn the Rajya Sabha for an unlimited time.

2 / 8

इनमें से कौन एक सामूहिक विशेषाधिकार नहीं है?

  1. यह अपनी कार्यवाही से अतिथियों को बाहर कर सकती है।
  2. यह अपनी कार्यवाही के संचालन एवं प्रबंधन तथा इन मामलों के निर्णय हेतु नियम बना सकती है।
  3. यह विशेषाधिकारों के हनन करने पर चेतावनी या दंड दे सकती है।
  4. ये चाहे तो राज्यसभा को असीमित समय के लिए स्थगित कर सकती है।

Choose the correct statement from the given statements;

  1. The Committee of Privileges of the Lok Sabha consists of 15 members.
  2. The Committee of Privileges of Rajya Sabha consists of 12 members.
  3. Any member can put the matter of privilege on the table of the Parliament.
  4. The work of the Committee of Privileges is of a quasi-judicial nature.

3 / 8

दिए गए कथनों में से सही कथन का चुनाव करें;

  1. लोकसभा के विशेषाधिकार समिति में 15 सदस्य होते हैं।
  2. राज्यसभा के विशेषाधिकार समिति में 12 सदस्य होते हैं।
  3. कोई भी सदस्य विशेषाधिकार संबंधी मुद्दे संसद के पटल पर रख सकता है।
  4. विशेषाधिकार समिति का कार्य अर्ध-न्यायिक प्रकृति का होता है।

What is the purpose of parliamentary privilege?

  1. To protect the dignity and independence of the Parliament.
  2. To ensure that Members of Parliament are free to perform their duties without fear of legal action.
  3. To enable the Parliament to carry out its functions effectively and efficiently.

4 / 8

संसदीय विशेषाधिकार का उद्देश्य क्या है?

  1. संसद की गरिमा और स्वतंत्रता की रक्षा करना।
  2. यह सुनिश्चित करना कि सांसद कानूनी कार्रवाई के डर के बिना अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिए स्वतंत्र रहें।
  3. संसद को अपने कार्यों को प्रभावी ढंग से और कुशलता से करने में सक्षम बनाना।

Can parliamentary privilege be challenged in court? Choose Most Appropriate Option;

5 / 8

क्या संसदीय विशेषाधिकार को न्यायालय में चुनौती दी जा सकती है? सबसे उपयुक्त कथन का चुनाव करें;

Choose the correct statement from the given statements regarding parliamentary privilege;

  1. Parliamentary privileges are available only to the members of the Parliament.
  2. Article 105 deals with this.
  3. Both collective and individual privileges are available under it.
  4. Only the President can violate these privileges.

6 / 8

संसदीय विशेषाधिकार के संबंध में दिए गए कथनों में से सही कथन का चुनाव करें;

  1. संसदीय विशेषाधिकार सिर्फ संसद के सदस्यों को मिलते हैं।
  2. अनुच्छेद 105 इससे संबंधित है।
  3. सामूहिक और व्यक्तिगत दोनों प्रकार के विशेषाधिकार इसके तहत उपलब्ध है।
  4. इन विशेषाधिकारों का हनन सिर्फ राष्ट्रपति ही कर सकता है।

What is parliamentary privilege?

  1. A legal immunity granted to Members of Parliament to protect them from prosecution for actions performed in the course of their duties.
  2. The power of Parliament to regulate its own proceedings, including the right to punish members for disorderly conduct.

7 / 8

संसदीय विशेषाधिकार क्या है?

  1. संसद सदस्यों को उनके कर्तव्यों के दौरान किए गए कार्यों के लिए मुकदमा चलाने से बचाने के लिए दी गई कानूनी प्रतिरक्षा।
  2. अव्यवस्थित आचरण के लिए सदस्यों को दंडित करने के अधिकार सहित अपनी स्वयं की कार्यवाही को विनियमित करने की संसद की शक्ति।

Which of the following comes under the category of personal privilege?

  1. freedom of speech in parliament
  2. Exonerated from prosecution for speech made in Parliament
  3. Right to receive immediate information regarding the arrest, conviction, imprisonment or release of a member
  4. holding secret meetings to discuss some urgent matters

8 / 8

इनमें से कौन व्यक्तिगत विशेषाधिकार की श्रेणी में आता है?

  1. संसद में भाषण देने की स्वतंत्रता
  2. संसद में दी गई भाषण के लिए न्यायालयी कार्रवाई से मुक्त
  3. किसी सदस्य की बंदी, अपराध सिद्ध, कारावास या मुक्ति संबंधी तत्कालीन सूचना प्राप्त करने का अधिकार
  4. कुछ आवश्यक मामलों पर विचार-विमर्श हेतु गुप्त बैठक करना

Your score is

0%

आप इस क्विज को कितने स्टार देना चाहेंगे;


अगर आपको हमारे कंटेंट पसंद आते हैं तो कृपया हमें ज्यादा से ज्यादा जिज्ञासु लोगों तक पहुंचने में मदद करें; और किसी भी प्रकार के सवाल, सलाह एवं सुझाव के लिए हमने नीचे दिए गए प्लैटफ़ार्म पर जॉइन कर लें;


📌 Join YouTube📌 Join FB Group
📌 Join Telegram📌 Like FB Page
अगर टेलीग्राम चैनल का लिंक काम न करें तो सीधे टेलीग्राम पर जाकर सर्च करें – @upscandpcsofficial

| Complete Polity Test Series

🔴 Chapter Wise Polity Test↗️

🔴 भारतीय संविधान अभ्यास प्रश्न [UPSC & PCS] Free↗️


Preparation of UPSC

यूपीएससी संघ लोक सेवा आयोग का शॉर्ट फॉर्म है, जो भारतीय संविधान के अनुच्छेद 315 के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित एक संवैधानिक निकाय है।

यह केंद्र और राज्य स्तर पर विभिन्न सरकारी पदों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए प्रतिष्ठित सिविल सेवा परीक्षा सहित विभिन्न सिविल सेवा परीक्षाओं के संचालन के लिए जिम्मेदार है।

◾यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा, इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा, संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा, संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा और अन्य सहित पूरे वर्ष विभिन्न परीक्षाएं आयोजित करता है।

◾सिविल सेवा परीक्षा, जिसे यूपीएससी परीक्षा के रूप में भी जाना जाता है, को भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है और इसे तीन चरणों में आयोजित किया जाता है: प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार।

यह विभिन्न प्रशासनिक सेवाओं जैसे कि भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS), और भारतीय विदेश सेवा (IFS) के लिए उम्मीदवारों का चयन करने के लिए है।

◾यूपीएससी विभिन्न सरकारी पदों के लिए सही उम्मीदवारों का चयन करने और यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि चयन प्रक्रिया निष्पक्ष, पारदर्शी और योग्यता आधारित हो।

आयोग कई अन्य गतिविधियों का भी संचालन करता है जैसे भर्ती, अनुशासनात्मक मामलों और पदोन्नति से संबंधित मामलों पर सरकार को सलाह देना आदि।

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के टिप्स

यूपीएससी परीक्षा की तैयारी के लिए यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं:

जल्दी शुरू करें: यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू करने के लिए आखिरी मिनट तक इंतजार न करें। सामग्री की समीक्षा करने के लिए अपने आप को पर्याप्त समय देने के लिए जितनी जल्दी हो सके पढ़ना शुरू करें और जो आपने सीखा है उसे लागू करने का अभ्यास करें।

एक अध्ययन योजना बनाएं: अपनी पढ़ाई के लिए एक शेड्यूल बनाएं जो आपके अध्ययन के समय को प्रबंधनीय विखंड में तोड़ दे। अपने सभी अध्ययन को थोड़े समय में रटने की कोशिश करने के बजाय, कई हफ्तों या महीनों के दौरान अपने अध्ययन सत्रों को फैलाने की कोशिश करें।

पाठ्यक्रम की समीक्षा करें: यूपीएससी परीक्षा के पाठ्यक्रम से खुद को परिचित करें और सुनिश्चित करें कि आप समझते हैं कि आपसे क्या अपेक्षा की जाती है। यह आपको अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आप सभी आवश्यक सामग्री को कवर कर रहे हैं।

अभ्यास, अभ्यास, अभ्यास: आपने जो सीखा है उसे लागू करने का आप जितना अधिक अभ्यास करेंगे, आप परीक्षा के लिए उतने ही बेहतर ढंग से तैयार होंगे। इसमें अभ्यास की समस्याएं करना, स्वयं से प्रश्न पूछना, या अभ्यास परीक्षाओं के माध्यम से काम करना शामिल हो सकता है।

ब्रेक लें: बिना ब्रेक लिए लंबे समय तक पढ़ाई करने की कोशिश न करें। अपने दिमाग को आराम करने और रिचार्ज करने के लिए समय देना महत्वपूर्ण है।

शांत रहें और सकारात्मक रहें: परीक्षा को लेकर ज्यादा चिंतित या तनावग्रस्त न हों। खुद पर और अच्छा करने की अपनी क्षमता पर भरोसा रखें और सकारात्मक रहने की कोशिश करें।

संसाधनों और सहायता की तलाश करें: यूपीएससी परीक्षाओं की तैयारी में मदद करने के लिए एक ट्यूटर की मदद लेने या अध्ययन समूह में शामिल होने पर विचार करें।

WonderHindi पर हम यहाँ आपको सभी अध्ययन सामाग्री मुफ्त में उपलब्ध कराने वाले हैं। Polity, Constituion कंप्लीट हो चुका है। जल्द ही अन्य सभी विषयों पर भी लेख, विडियो एवं टेस्ट सिरीज़ आने वाली है।

हमसे बात करने के लिए या संबंधित अन्य किसी भी जानकारी के लिए कृपया हमारे सोशल मीडिया हैंडल से जुड़ें –

📌 Join Telegram📌 Join FB Group
अगर टेलीग्राम चैनल का लिंक काम न करें तो सीधे टेलीग्राम पर जाकर सर्च करें – @upscandpcsofficial