यह लेख Article 238 (अनुच्छेद 238) का यथारूप संकलन है। आप इस मूल अनुच्छेद का हिन्दी और इंग्लिश दोनों संस्करण पढ़ सकते हैं। आप इसे अच्छी तरह से समझ सके इसीलिए इसकी व्याख्या भी नीचे दी गई है आप उसे जरूर पढ़ें, और MCQs भी सॉल्व करें।

Bell आइकॉन पर क्लिक करके हमारे नोटिफ़िकेशन सर्विस को Allow कर दें ताकि आपको हरेक नए लेख की सूचना आसानी से प्राप्त हो जाए। साथ ही नीचे दिए गए हमारे सोशल मीडिया हैंडल से जुड़ जाएँ और नवीनतम विचार-विमर्श का हिस्सा बनें। खासकर के टेलीग्राम और यूट्यूब से जरूर जुड़ जाएं;
⬇️⬇️⬇️
Article 238

📜 अनुच्छेद 238 (Article 238) – Original

भाग 7 “राज्य” Repealed
238. पहली अनुसूची के भाग ख के राज्य संविधान (सातवाँ संशोधन) अधिनियम 1956 की धारा 29 और अनुसूची द्वारा (1-11-1956 से) निरसित।
अनुच्छेद 238 हिन्दी संस्करण

Part VI “State”
238. The States in Part B of the First Schedule— Omitted by the Constitution (Seventh Amendment) Act, 1956, s. 29 and Sch. (w.e.f. 1-11-1956)
Article 238 English Version

🔍 Article 238 Explanation in Hindi

भारतीय संविधान में भाग 7 जैसा कोई भाग अभी प्रभाव में नहीं है। क्योंकि इसे 7वें संविधान संशोधन अधिनियम 1956 की मदद से निरसित (repealed) कर दिया गया है। इसे क्यों निरसित कर दिया गया है इसे समझना जरूरी है।

मूल संविधान ने भारतीय संघ के राज्यों को चार प्रकार से वर्गीकृत किया – भाग ‘क’भाग ‘ख’भाग ‘ग’, एवं भाग ‘घ’। ये सभी संख्या में 29 थे ।

– भाग ‘क’ में वे राज्य थे, जहां ब्रिटिश भारत में गवर्नर का शासन था। यानी कि एक निर्वाचित गवर्नर और राज्य विधायिका द्वारा शासित था। ये संख्या में 9 था।
– भाग ‘ख’ में उन 9 राज्यों को शामिल किया गया था जहाँ शाही शासन (princely states) था। और जो राजप्रमुख द्वारा शासित था।
– भाग ‘ग’ में ब्रिटिश भारत के मुख्य आयुक्त का शासन एवं कुछ में शाही शासन था।
– अंडमान एवं निकोबार द्वीप को अकेले भाग ‘घ’ में रखा गया था। 

भाग ‘क’भाग ‘ख’भाग ‘ग’भाग ‘घ’
1. असम1. हैदराबाद1. अजमेर1. अंडमान & निकोबार द्वीप समूह
2. बिहार2. J & K2. बिलासपुर 
3. बंबई3. मध्य भारत3. भोपाल 
4. मध्यप्रदेश4. मैसूर4. कूच बिहार 
5. मद्रास5. पटियाला & पूर्वी पंजाब5. दिल्ली 
6. ओड़ीसा6. राजस्थान6. कुर्ग 
7. पंजाब7. सौराष्ट्र7. हिमाचल प्रदेश 
8. संयुक्त प्रांत8. विंध्य प्रदेश8. कच्छ 
9. पश्चिम बंगाल9. त्रावणकोर-कोचीन9. मणिपुर 
  10. त्रिपुरा 
◾ भारतीय राज्यों के बनने की कहानी (Story of Formation of States in India)
Closely Related to Article 238

इस अनुच्छेद के तहत भाग “ख” के राज्यों के बारे में बात की गई थी। हालांकि भारत सरकार ने दिसम्बर 1953 में  फजल अली की अध्यक्षता में राज्य पुनर्गठन आयोग (State Reorganization Commission) गठित किया।

1955 में जब इन्होने अपनी रिपोर्ट पेश कि तो इस बात को व्यापक रूप से स्वीकार किया कि राज्यों के पुनर्गठन में भाषा को मुख्य आधार बनाया जाना चाहिए।

हाँ, लेकिन मुख्य और बड़ी संख्या में बोली जाने वाली भाषा को ही आधार माना जाना चाहिए। 

इस आयोग ने सलाह दी कि मूल संविधान के अंतर्गत स्थापित चार आयामी राज्यों के वर्गीकरण को समाप्त किया जाए यानी कि राज्यों के भाग क, भाग ख, भाग ग और भाग घ वाले वर्गीकरण को समाप्त कर दिया जाना चाहिए और 16 राज्यों एवं 3 केंद्रशासित क्षेत्रों का निर्माण किया जाना चाहिए।

भारत सरकार ने बहुत कम परिवर्तनों के साथ इन सिफ़ारिशों को स्वीकार कर लिया। राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 और 7वें संविधान संशोधन अधिनियम 1956 के द्वारा 14 राज्य और 6 केंद्र शासित प्रदेशों का गठन किया गया। (जिसे कि आप नीचे चार्ट में देख सकते हैं)। चूंकि पुरानी वाली व्यवस्था समाप्त हो गई और नई व्यवस्था लाई गई ऐसे में अनुच्छेद 238 किसी काम का नहीं था।

राज्यकेंद्रशासित प्रदेश
1. आंध्र प्रदेश1. अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह
2. बिहार2. दिल्ली
3. बंबई3. हिमाचल प्रदेश
4. असम4. लकादीव, अमीनदिवी और मिनीकॉय द्वीप समूह
5. जम्मू एवं कश्मीर5. मणिपुर
6. केरल6. त्रिपुरा
7. मध्य प्रदेश 
8. मद्रास 
9. मैसूर (कर्नाटक) 
10. ओड़ीसा 
11. पंजाब 
12. राजस्थान 
13. उत्तर प्रदेश 
14. पश्चिम बंगाल 
Article 238

तो यही है अनुच्छेद 238 , उम्मीद है आपको समझ में आया होगा। दूसरे अनुच्छेदों को समझने के लिए नीचे दिए गए लिंक का इस्तेमाल कर सकते हैं।

◾ भारतीय राज्यों के बनने की कहानी (Story of Formation of States in India)
Must Read

सवाल-जवाब के लिए टेलीग्राम जॉइन करें; टेलीग्राम पर जाकर सर्च करे – @upscandpcsofficial

Related MCQs with Explanation

/10
0 votes, 0 avg
34

Chapter Wise Polity Quiz

भारतीय राज्यों के बनने की कहानी अभ्यास प्रश्न

  1. Number of Questions – 10
  2. Passing Marks – 80 %
  3. Time – 8 Minutes
  4. एक से अधिक विकल्प सही हो सकते हैं।

Which of the given options is/are correct?

  1. Three states came into existence in 1987 – Arunachal Pradesh, Manipur and Mizoram
  2. Three states came into existence in the year 2000 – Jharkhand, Chhattisgarh and Uttarakhand
  3. Telangana was created in 2014.
  4. Jammu and Kashmir was made a union territory in 2019

1 / 10

दिए गए विकल्पों में से कौन सा विकल्प सही है?

  1. 1987 में तीन राज्य अस्तित्व में आए – अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और मिज़ोरम
  2. साल 2000 में तीन राज्य अस्तित्व में आए – झारखंड, छतीसगढ़ और उत्तराखंड
  3. 2014 में तेलंगाना बनाया गया।
  4. 2019 में जम्मू और कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया

According to the States Reorganization Commission of 1956, which of the following statements is correct?

  1. Saurashtra and Kutch states were merged with Bombay state.
  2. Coorg was merged with the Kingdom of Mysore.
  3. Patiala and East Punjab were merged with Punjab.
  4. Ajmer was merged with Rajasthan.

2 / 10

1956 के राज्य पुनर्गठन आयोग के अनुसार, इनमें से कौन सा कथन सही है?

  1. सौराष्ट्र एवं कच्छ राज्य को बॉम्बे राज्य में मिला दिया गया।
  2. कुर्ग को मैसूर राज्य में मिला दिया गया।
  3. पटियाला एवं पूर्वी पंजाब को पंजाब में मिला दिया गया।
  4. अजमेर को राजस्थान में मिला दिया गया।

Which of these statements is/are correct?

  1. Haryana got the status as the 17th state.
  2. Himachal Pradesh got full statehood in 1971.
  3. In 1972, three new states Manipur, Tripura and Meghalaya came into existence.
  4. Meghalaya was recognized as the 18th state.

3 / 10

इनमें से कौन सा कथन सही है?

  1. हरियाणा 17वें राज्य के रूप में दर्जा पाया।
  2. 1971 में हिमाचल प्रदेश को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला।
  3. 1972 में तीन नए राज्य मणिपुर, त्रिपुरा एवं मेघालय अस्तित्व में आया।
  4. मेघालय को 18वें राज्य के रूप में मान्यता मिली।

4 / 10

केरल को निम्न में से किन प्रान्तों को मिलाकर बनाया गया?

Which of the following statements regarding Sikkim is not correct?

  1. Chogyal ruled here.
  2. It got full statehood by the 37th constitutional amendment.
  3. It was given the status of an associated state in 1974.
  4. It became the 21st state of India.

5 / 10

सिक्किम के संबंध में इनमें से कौन सा कथन सही नहीं है?

  1. यहाँ चोग्याल का शासन था।
  2. 37वें संविधान संशोधन के द्वारा इसे पूर्ण राज्य का दर्जा मिला।
  3. 1974 में इसे संबद्ध राज्य का दर्जा दिया गया था।
  4. ये भारत का 21वां राज्य बना।

Which of the given statements is/are correct?

  1. At the time of independence, there were two categories of political units in India under the rule of the British Government and the princely states.
  2. Under the Indian Independence Act, two independent and separate sovereign countries India and Pakistan were created.
  3. Three princely states Hyderabad, Kutch and Jammu and Kashmir refused to join India.
  4. Hyderabad was merged with India through plebiscite.

6 / 10

दिए गए कथनों में से कौन सा कथन सही है?

  1. आजादी के समय भारत में राजनीतिक इकाइयों की दो श्रेणियाँ थी ब्रिटिश सरकार के शासन के अधीन और देशी रियासतें।
  2. भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम के अंतर्गत दो स्वतंत्र एवं पृथक प्रभुत्व वाले देश भारत और पाकिस्तान का निर्माण किया गया।
  3. तीन रियासतें हैदराबाद, कच्छ और जम्मू-कश्मीर ने भारत में शामिल होने से मना कर दिया था।
  4. हैदराबाद को जनमत संग्रह के द्वारा भारत में मिलाया गया।

Which of the following is/are correct about Lakshadweep?

  1. Lakshadweep, Minicoy and Amindivi islands were cut off from the states of Kerala and Karnataka.
  2. Lakshadweep, Minicoy and Amindivi islands were cut off from Madras State.
  3. Lakshadweep, Minicoy and Amindivi islands were cut off from Maldives.

7 / 10

लक्षद्वीप के बारे में इनमें से क्या सही है?

  1. लक्षद्वीप, मिनीकॉय तथा अमीनदिवी द्वीप को केरल एवं कर्नाटक राज्य से काटकर अलग किया गया।
  2. लक्षद्वीप, मिनीकॉय तथा अमीनदिवी द्वीप को मद्रास राज्य से काटकर अलग किया गया।
  3. लक्षद्वीप, मिनीकॉय तथा अमीनदिवी द्वीप को मालदीव से काटकर अलग किया गया।

The Indian Union was classified into 4 parts by the original constitution; Which of the following statements is/are correct in this context?

  1. Part ‘A’ contained those states which were under Governor’s rule in British India.
  2. Part ‘B’ included those 9 states where there was royal rule with legislature.
  3. Part ‘C’ had the rule of the Chief Commissioner of British India and some had royal rule.
  4. Andaman and Nicobar and Dadar and Nagar Haveli islands were placed in Part ‘D’.

8 / 10

मूल संविधान द्वारा भारतीय संघ को 4 भागों में वर्गीकृत किया गया था; इस संदर्भ में निम्न में से कौन सा कथन सही है?

  1. भाग ‘क’ में वे राज्य थे, जहां ब्रिटिश भारत में गवर्नर का शासन था।
  2. भाग ‘ख’ में उन 9 राज्यों को शामिल किया गया था जहाँ विधानमंडल के साथ शाही शासन था।
  3. भाग ‘ग’ में ब्रिटिश भारत के मुख्य आयुक्त का शासन एवं कुछ में शाही शासन था।
  4. अंडमान एवं निकोबार और दादर एवं नागर हवेली द्वीप को भाग ‘घ’ में रखा गया था।

Which of the given statements is/are correct?

  1. The Dhar Commission rejected the formation of states on the basis of language.
  2. The JVP committee included Jawaharlal Nehru, Vallabhbhai Patel and Potti Sriramulu.
  3. The Fazal Ali Commission asked for the formation of the state on the basis of language.
  4. The States Reorganization Act was brought in 1956.

9 / 10

दिए गए कथनों में से कौन सा कथन सही है?

  1. धर आयोग ने भाषा के आधार पर राज्य निर्माण को अस्वीकार कर दिया।
  2. जेवीपी समिति में जवाहर लाल नेहरू, वल्लभ भाई पटेल और पोट्टी श्रीरामुलु शामिल थे।
  3. फज़ल अली आयोग ने राज्य का निर्माण भाषा के आधार पर करने को कहा।
  4. राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 में लाया गया।

10 / 10

गुजरात कब अस्तित्व में आया?

Your score is

0%

आप इस क्विज को कितने स्टार देना चाहेंगे;

| Related Article

अनुच्छेद 239 – भारतीय संविधान
अनुच्छेद 237 – भारतीय संविधान
Next and Previous to Article 238
भारतीय संविधान
संसद की बेसिक्स
मौलिक अधिकार बेसिक्स
भारत की न्यायिक व्यवस्था
भारत की कार्यपालिका
Important Pages of Compilation
अस्वीकरण – यहाँ प्रस्तुत अनुच्छेद और उसकी व्याख्या, मूल संविधान (उपलब्ध संस्करण), संविधान पर डी डी बसु की व्याख्या (मुख्य रूप से), प्रमुख पुस्तकें (एम. लक्ष्मीकान्त, सुभाष कश्यप, विद्युत चक्रवर्ती, प्रमोद अग्रवाल इत्यादि) एनसाइक्लोपीडिया, संबंधित मूल अधिनियम और संविधान के विभिन्न ज्ञाताओं (जिनके लेख समाचार पत्रों, पत्रिकाओं एवं इंटरनेट पर ऑडियो-विजुअल्स के रूप में उपलब्ध है) पर आधारित है। हमने बस इसे रोचक और आसानी से समझने योग्य बनाने का प्रयास किया है।