शासन और प्रशासन में अंतर क्या है? shasan aur prashasan me antar

शासन और प्रशासन में अंतर

अक्सर हम शासन और प्रशासन को एक ही समझ कर इस्तेमाल करते हैं पर इन दोनों में कुछ मुख्य अंतर है तो आइये जानते है शासन और प्रशासन में मुख्य अंतर क्या है?

शासन और प्रशासन

🏢 शासन 🏢
Governance

शासन शब्द का अर्थ; आज्ञा देना, उपदेश देना या फिर राज करना होता है।  इस प्रकार देखें तो इसका मुख्य अर्थ किसी को अपने नियंत्रण में रखना है, जिससे वह निर्धारित नियम, व्यवस्था, आदेश आदि के विपरीत कार्य न करें।

 इसका मकसद ही होता है; देश, प्रांत, स्थान, संस्थान या संगठन आदि पर इस प्रकार से नियंत्रण रखने की व्यवस्था करना ताकि किसी प्रकार से अराजकता पैदा न हो। 

किसी भी देश में राजा, सेनापति, राष्ट्रपति या मंत्रियों का समूह वहाँ का शासन चलता है। 

अरबी में इसके लिए हुक़ूमत का प्रयोग किया जाता है। 

किसी को वश में रख कर उससे अपने इच्छानुसार कार्य करवाना भी शासन करना है; जैसे- उसकी घरवाली उस पर शासन करती है। 

किसी देश या राज्य पर शासन करने के तरीके को शासन प्रणाली और जिस सिद्धांत के आधार पर शासन की व्यवस्था की जाती है, उसे शासन तंत्र कहते है। 

🏛 प्रशासन 🏛
Administration

प्रशासन शासन का ही एक अंग है जिसका मुख्य मकसद कार्यों की व्यवस्था और नियमों का पालन कराना है।

निर्धारित व्यवस्था और नियमों की देखरेख करने वाले को प्रशासक अथवा प्रशासनिक अधिकारी कहा जाता है।

एक कुशल प्रशासक को आंतरिक और बाह्य दोनों प्रकार के संघर्षों से सदैव और निरंतर जूझना पड़ता है।

इसीलिए तो कहा जाता है कि शासन तथा जनता, दोनों के लिए समान रूप से प्रिय कार्य करने वाला प्रशासक दुर्लभ होता है। 

नागरिकों के अधिकारों और कर्तव्यों आदि को कार्य रूप में परिणत करना प्रशासन है। 

शासन को अंग्रेजी में गवर्नेंस और प्रशासन को अँग्रेजी में एड्मिनिसट्रेशन कहा जाता है। 

कुल मिलाकर मुख्य अंतर

कुल मिलाकर कहा जाए तो प्रशासन शासन की एक ऐसा व्यवस्था है, जिसके माध्यम से शासन अपने विधानों को लागू करता है। 

शासन का स्थान प्रशासन के ऊपर होता है, क्योंकि प्रशासन उसी के नियमों, निर्देशों आदि को कार्यान्वित करता है।

💢💢💢💢💢💢

‘शासन और प्रशासन में अंतर’ लेख को डाउन लोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

चिपकना और सटना में अंतर यहाँ से जानें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *