हरण और अपहरण अक्सर इस्तेमाल में आने वाला शब्द है। बहुत पहले मैंने अपने गाँव में ये सुना था, एक औरत अपने पति पर चिल्लाते हुए बोल रही थी – तुम्हारा बाक हरण हो गया है। और उसका पति अपना पति धर्म निभाते हुए बस सुन रहा था।

दरअसल उस औरत का मतलब था कि तुम्हारे आवाज को किसी ने हर लिया है क्या, जो तुम कुछ बोल नहीं रहे हो। और मैं जब उसे सुन रहा था, तो मेरे मन में ये चल रहा था कि इसने बाक हरण कहा, बाक अपहरण क्यों नहीं कहा। जाहिर है कुछ तो अंतर है ही इन दोनों में।

इस लेख में हम हरण और अपहरण में अंतर पर चर्चा करेंगे और इसके मध्य के कुछ सूक्ष्म अंतर को जानने का प्रयास करेंगे, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें;

हरण और अपहरण

| हरण और अपहरण में अंत

हरण और अपहरण में वैसे कोई खास अंतर है नहीं, आमतौर पर दोनों का ही मतलब होता है- किसी को उसके मर्जी के बिना बलपूर्वक उठा लेना, या फिर किसी चीज़ को उसकी मर्जी के बिना उससे अलग कर देना, छीन लेना आदि।

अनुचित ढंग से किसी वस्तु को किसी से छीन लेना या फिर दूर कर देना। जैसे कि वस्त्र हरण, प्राण हरण, चीरहरण इत्यादि। जबर्दस्ती किसी को उठा कर ले जाना जैसे कि सीता हरण, रुक्मिणी हरण, गीता हरण, पिता हरण इत्यादि।

हरण का अर्थ सकारात्मक भी होता है। जैसे कि संकट हरण, दुख हरण, कष्ट हरण, चिंता हरण इत्यादि। यही एक खास चीज़ है जो इसे अपहरण से अलग करती है।

हरण में ही जब ‘अप’ उपसर्ग लग जाता है तो अपहरण बन जाता है। ‘अप’ उपसर्ग का मतलब होता है दूरी या अलगाव, बुरा या निंदनीय।

किसी बुरे उद्देश्य से किया गया हरण ही अपहरण है। इसे इंग्लिश में किडनैपिंग या एबडक्शन कहा जाता है। जैसे कि किसी को उठा लिया जाता है और उसके बदले फिरौती मांगी जाती है।

गलत काम करवाने के उद्देश्य से किसी को बहला-फुसलाकर को ले जाना भी अपहरण ही होता है। जैसे कि वेश्यावृति के लिए किसी को बहला-फुसलाकर ले जाना।

तो देखा आपने दोनों का कमोबेश एक सा ही मतलब होता है, पर एक बात जो इसे एक दूसरे से अलग करता है वो ये है कि हरण करने का उद्देश्य अच्छा भी हो सकता है, जैसे कि संकट हरण, दुख हरण, कष्ट हरण, चिंता हरण इत्यादि।

जबकि अपहरण का अर्थ हमेशा बुरा ही होता है। मतलब ये कि हरण का इस्तेमाल आप पॉज़िटिव सेंस में भी कर सकते हैं और नेगेटिव सेंस में भी। पर अपहरण का अर्थ हमेशा नकारात्मक ही होता है।

◼◼◼◼◼

| संबन्धित अन्य लेख

जानने और समझने में अंतर होता है?
एथिक्स और नैतिकता में अंतर को समझिए
Attitude and Aptitude differences
अभिवृति और अभिक्षमता में अंतर
हंसी और दिल्लगी में अंतर क्या है?
बल और सामर्थ्य में अंतर क्या है?
आमंत्रण और निमंत्रण में अंतर क्या है?
संधि और समझौता में अंतर
र और मकान में मुख्य अंतर क्या है?
निवेदन और प्रार्थना में मुख्य अंतर
शंका और संदेह में मुख्य अंतर क्या है?
संस्था और संस्थान में मुख्य अंतर 
शिक्षा और विद्या में अंतर
मंदबुद्धि किसे कहते हैं?
इडियट किसे कहते हैं?
IQ टेस्ट क्या होता है?

क्रिकेट के एक ओवर में छह गेंदे ही क्यूँ होते हैं?

FAQs

  1. हरण किसे कहते है?

    अनुचित ढंग से किसी वस्तु को किसी से छीन लेना या फिर दूर कर देना, हरण कहलाता है, ये सकारात्मक भी हो सकता है जैसे कि दुखहरण, कष्टहरण आदि।

  2. अपहरण किसे कहते हैं?

    किसी बुरे उद्देश्य से किया गया हरण ही अपहरण है। इसे इंग्लिश में किडनैपिंग या एबडक्शन कहा जाता है। जैसे कि किसी को उठा लिया जाता है और उसके बदले फिरौती मांगी जाती है। गलत काम करवाने के उद्देश्य से किसी को बहला-फुसलाकर को ले जाना भी अपहरण ही होता है। जैसे कि वेश्यावृति के लिए किसी को बहला-फुसलाकर ले जाना।