फूलों में सुगंध का क्या कारण है?

इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि फूलों में सुगंध का क्या कारण है और पृथ्वी पर फूल कब से उग रहें है?

फूलों में सुगंध का क्या कारण है? परागण से इसका क्या लेना-देना है?

हमारी पाँच इंद्रियों में से एक महत्वपूर्ण इंद्री है नाक । उसका सबसे प्रमुख काम है सूंघना जी हाँ मैंने सबसे प्रमुख इसलिए कहा क्योंकि नाक से लोग और भी बहुत कुछ कर लेते हैं जैसे कि – साँप नाक में घुसा लेना, नाक से गाना गा लेना इत्यादि।

पर जैसा कि मैंने कहा इसका प्रमुख कार्य सूंघना ही है। जीवन के प्राय: तमाम तत्वों में गंध होते हैं। भोजन भोजन, शराब, फलों, मसलों, सब्जियों वगैरह सब में गंध मिलती है।

पर जब अच्छी खुशबू की बात हो रही हो और फूलों की बात न हो ऐसा भला हो सकता है क्या।

फूलों में खुशबू होती है ये तो हम सब जानते है पर आज हम बात करेंगे कि फूलों में ये खुशबू आती कहाँ से है। तो आइये जानते है।  

फूलों में सुगंध कहाँ से आती है?

गंध आम तौर पर वातावरण में फूलों द्वारा उत्सर्जित कम आणविक भार यौगिकों का एक जटिल मिश्रण है और इसकी संरचना, रंग और गंध परागणकर्ताओं को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

दूसरे शब्दों में कहें तो, खुशबू एक संकेत है जो परागणकर्ताओं को एक विशेष फूल के लिए आकर्षित या निर्देशित करता है। जिसका इनाम पराग होता है।

जब फूल परागण के लिए तैयार होते हैं तब पौधे अपने सुगंध का उत्पादन अधिकतम स्तर पर करता हैं ताकि इसके संभावित परागणकर्ता सक्रिय हो जाएँ।

जो पौधे दिन के दौरान अपने सुगंध के उत्पादन को अधिकतम करते हैं, वे मुख्य रूप से मधुमक्खियों या तितलियों द्वारा परागित होते हैं,

वहीं जो पौधे रात में अपनी सुगंध जारी करते हैं, वे कीट और चमगादड़ द्वारा परागित होते हैं।

ये सब अपने अस्तित्व को बचाये रखने की जद्दोजहद है क्योंकि बिना परागण के वे प्रजनन नहीं कर पाएंगे।

जो पौधे परागण के लिए तैयार नहीं होते हैं वे कम गंध पैदा करते हैं और दूसरे फूलों की तुलना में परागणकर्ता के लिए कम आकर्षक हैं।

हालांकि सभी फूलों में खुशबू नहीं होती। कुछ फूल गंधहीन होते हैं और कुछ दुर्गंध भी देते हैं।

यद्यपि फूल, उनके रंग या आकार में समान हो सकते हैं, लेकिन कोई दो पुष्प गंध नहीं हैं जो एक समान हो।

मतलब ये कि सुगंध एक रसायनिक यौगिक होता है जो अलग-अलग फूलों में अलग-अलग होता है।

गुलाब की खुशबू जेरनायल एसीटेट नामक रासायनिक यौगिक के कारण होती है। चमेली की खुशबू नेरोलायडाल के कारण होती है। पुराने जमाने में फूलों से ही इत्र बनता था।

कब से उग रहें है फूल

फूलों के रंग और खुशबू के अलावा यह जानना भी कम रोचक नहीं है कि फूल कब से धरती में उग रहे हैं। एक खोज के दौरान अमेरिका के वैज्ञानिक ने एक ऐसा पौधा खोजा, जिसे दुनिया का पहला फूलों वाला पौधा कहा जा सकता है।

वनस्पति शास्त्रियों को मिला यह पौधा मौंटेशिया विदाली प्रजाति का है। माना जा रहा है कि इस प्रजाति के पौधे 12 करोड़ 50 लाख वर्ष से भी अधिक समय पहले स्पेन की ताजा पानी के झील में उगते थे।

इस पर कोई पंखुड़ी नहीं थी और यह तालाब में उगने वाले खरपतवार की तरह दिखता है। इस पर एक बीजवाला फल लगा दिखाई देता है। इस पौधे से हमें यह समझने में मदद मिल सकती है कि फूलों के पौधे किस तरह विकसित हुए और दुनियाभर में फैल गए।

………..

प्लास्टिक की खोज कब और कैसे हुई?

surface to air missile

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *