चेतावनी और धमकी में से अगर चेतावनी हो तो उतना ज्यादा चिंता नहीं होता है लेकिन धमकी हो तो चिंता बढ़ जाती है, जैसे कि अगर मैं ये कहूँ कि 10 दिनों के अंदर अगर तुमने मेरे साइट के सारे लेखों को नहीं पढ़ा तो फिर पढ़ने लायक नहीं रहोगे, सोच लो!

खैर, इस लेख में हम चेतावनी और धमकी पर सरल एवं सहज चर्चा करेंगे एवं इसके मध्य के अंतर को समझने की कोशिश करेंगे, तो लेख को अंत तक जरूर पढ़ें,

चेतावनी और धमकी में अंतर
Read in EnglishYT1FBgYT2

| चेतावनी (warning)

चेतावनी और धमकी में अंतर क्या है? - [Key Difference] WonderHindi

Please Subscribe Our Channel

◼️ चेतावनी में किसी बुरी घटना की पूर्व सूचना देकर सचेत करने की भाव की प्रधानता होती है, या यूं कहें कि चेताने या अलर्ट करने का भाव होता है। 

◼️ इसके साथ ही, किसी को सावधान करने के लिए कही जानेवाली बात भी चेतावनी ही होती है। बहुत बार किसी को याद दिलाया जाता है कि, पिछली बार तुम इस प्रकार की गलती का ख़ामियाज़ा भुगत चुके हो, पर फिर भी तुम वैसा ही काम करने जा रहे हो, सुधर जाओ!

इस प्रकार का कथन भी चेतावनी ही होता है।  क्योंकि इसमें भूली हुई बात को याद कराया जा रहा है या फिर कहें कि सचेत किया जा रहा है।  

◼️ भविष्य में किसी कार्य का कार्यान्वयन ठीक प्रकार से हो, इसके लिए कार्यालयों मे चेतावनी का पत्र देने की परंपरा रही है, इसमें गलत कार्य न करने के प्रति आगाह करते हुए इसका उल्लंघन होने पर की जाने वाली कार्रवाई  की पूर्व सूचना होती है। इसे वार्निंग लेटर भी कहा जाता है। 

| धमकी (threat)

◼️ धमकी में धमक वाला कंपन का भाव होता है। धमकी किसी को डराने के मकसद से दी जाती है, ताकि वह डर से कांप कर धमकी देने वाले के अनुरूप ही आचरण करने लगे। 

जैसे – परीक्षक ने धमकी में आकार एक छात्र को पास करवा दिया, या, अगर तुमने मेरा यह काम नहीं किया तो मैं तुम्हारा समूल नष्ट कर दूंगा; यह कहना धमकी देना है। 

| चेतावनी और धमकी में कुल मिलाकर अंतर

◼️ कुल मिलाकर देखें तो चेतावनी का प्रयोग बस सावधान करने के लिए किया जाता है, जबकि धमकी डराने के लिए।  

◼️ धमकी में सामान्यत: व्यक्तिगत स्वार्थ छिपा होता है जबकि चेतावनी में व्यक्ति या समूह का हित छिपा होता है। जैसे कि – रंगदारी मांगने वाले जान मारने की धमकी देते हैं। वहीं दूसरी तरफ बिजली-पानी नहीं मिलने पर आंदोलन की चेतावनी दी जाती है, ताकि अधिकारी सचेत होकर इनकी आपूर्ति नियमित कर दें।

◼️◼️◼️

FAQs

  1. चेतावनी किसे कहते है?

    चेतावनी में किसी बुरी घटना की पूर्व सूचना देकर सचेत करने की भाव की प्रधानता होती है, या यूं कहें कि चेताने या अलर्ट करने का भाव होता है। कुल मिलाकर देखें तो चेतावनी का प्रयोग बस सावधान करने के लिए किया जाता है।

  2. धमकी किसे कहते हैं?

    धमकी किसी को डराने के मकसद से दी जाती है, ताकि वह डर से कांप कर धमकी देने वाले के अनुरूप ही आचरण करने लगे। 

संबंधित अन्य लेख

साधारण और सामान्य में अंतर
अवस्था और आयु में अंतर
लॉकडाउन और कर्फ़्यू में अंतर
चिपकना और सटना में अंतर
समालोचना और समीक्षा में अंतर
अद्भुत और विचित्र में अंतर
विश्वास और भरोसा में अंतर
नाम और उपनाम में अंतर
ईर्ष्या और द्वेष में अंतर
हत्या और वध में मुख्य अंतर
ज्ञापन और अधिसूचना में अंतर 
शासन और प्रशासन में अंतर
पीड़ा और यंत्रणा में अंतर
चिंतक और दार्शनिक में अंतर
सभ्यता और संस्कृति में अंतर
प्रशासन और प्रबंधन में अंतर
बल और सामर्थ्य में अंतर क्या है?
आमंत्रण और निमंत्रण में अंतर क्या है?
संधि और समझौता में अंतर
मंत्रिपरिषद और मंत्रिमंडल में अंतर
राज्य के नीति निदेशक तत्व और मूल अधिकार में अंतर
मार्शल लॉ और राष्ट्रीय आपातकाल
विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया और विधि की सम्यक प्रक्रिया
NRI और भारतीय मूल के विदेशी व्यक्ति में अंतर
समाधेय एवं गैर-समाधेय अपराध में अंतर
संज्ञेय एवं असंज्ञेय अपराध में अंतर
जमानती एवं गैर-जमानती अपराध में अंतर