अवस्था और आयु में अंतर क्या है?

इस लेख में हम अवस्था और आयु के मध्य कुछ सूक्ष्म अंतर को जानेंगे।

अवस्था और आयु में अंतर

Albino monarch butterfly.jpg

अवस्था

💪🏻 अवस्था किसी समय काल में किसी भी चीज़ की दशा, स्थिति या हालत आदि को प्रदर्शित करता है। अवस्था, अव और स्था से बना हुआ है। 

💪🏻 ‘अव’ एक उपसर्ग है यानी कि शब्दों के पहले लगता है। इसका इस्तेमाल निश्चय,अनादर, निषेध, कमी, अभाव, ह्रास, बुरा, दूषित, संकल्प आदि के अर्थ को प्रदर्शित करने में किया जाता है। 

💪🏻 वहीं ‘स्था’ का अर्थ स्थिर होना या खड़ा होना आदि है। यानी कि अवस्था से किसी खास स्थिति में होने का भाव प्रकट होता है।

जैसे कि – अब वो ऐसी अवस्था में पहुँच गया है कि ठीक से बोल भी नहीं पाता है।

💪🏻 अंग्रेजी में इसके लिए अलग-अलग शब्द है, जिसका इस्तेमाल भी अलग-अलग संदर्भों में किया जाता है।

💪🏻 जैसे अगर इसके लिए कंडिशन (Condition) शब्द का इस्तेमाल किया जाये, तो इसका उदाहरण कुछ इस प्रकार हो सकता है।

जैसे- कुछ समय से अभी देश की आर्थिक अवस्था (economical condition) ठीक नहीं है। 

💪🏻 अगर स्टेज (Stage) शब्द का इस्तेमाल अवस्था के लिए करें तो इसका उदाहरण कुछ इस प्रकार हो सकता है।

जैसे कि – वो अब अपने आखिरी स्टेज में है, पता नहीं कब है, कब नहीं है।

💪🏻 अगर इसके लिए फेज़ (Phase) शब्द का इस्तेमाल किया जाये तो, उदाहरण कुछ इस प्रकार हो सकता है।

जैसे कि – दूसरे फेज़ का चुनाव इतने तारीख से लेकर इतने तारीख तक चलेगा।

💪🏻 अगर अवस्था के लिए स्टेट (state) शब्द का प्रयोग करें तो इसका उदाहरण कुछ इस प्रकार हो सकता है।

जैसे कि – पानी सामान्य तापमान पर लिक्विड स्टेट में रहता है।

💪🏻 अगर अवस्था के लिए circumstances शब्द का प्रयोग करें तो उदाहरण कुछ इस प्रकार हो सकता है।

जैसे कि – विपरीत circumstances में ही इंसान के असली साहस की परीक्षा होती है।

💪🏻 आप गौर करेंगे कि ये सारे उदाहरण किसी न किसी प्रकार के स्थिति का वर्णन करते हैं, और ज़्यादातर नकारात्मक भाव ही सामने आता है॥ पर अच्छे भाव भी हो सकते हैं।

💪🏻 जीवन के संदर्भ में अवस्था को देखें तो इसे मुख्य रूप से चार भागों में बांटा जाता है।  बाल्यावस्था, किशोरावस्था, युवावस्था और वृद्धावस्था ।

बातो-बातो में हम अवस्था का इस्तेमाल बहुत करते है । जैसे – जब मैं तुम्हारी अवस्था में था तो अपने कॉलेज का प्लेबॉय था। 

💪🏻 कुछ विशेष प्रकार की स्थितियों के लिए भी अवस्था का प्रयोग किया जाता है; जैसे- रुग्णावस्था, गर्भावस्था आदि। 

आयु

👨🏻‍🦳 जन्म से लेकर मृत्यु तक के सम्पूर्ण काल को आयु से निरूपित किया जाता है।
जैसे- 32 वर्ष की आयु में रामानुजन का निधन हुआ, उसकी आयु 90 साल है पर फिर भी वो मरने का नाम नहीं ले रहा है। 

👨🏻‍🦳 हमारे समाज में दीर्घजीवी होने के लिए ‘आयुष्मान भव:’ के आशीर्वाद देने का भी चलन है।

👨🏻‍🦳 अब अगर आप आयुर्वेद शब्द को देखें तो आसानी से इसका मतलब समझ में आ जाता है कि ये आयु का वेद है।

इसीलिए आयुर्वेद में अधिक उम्र तक जीवित रहने के लिए जन्म से मरण तक होने वाले सभी प्रकार के रोगों का निदान तो किया ही गया है, स्वस्थ जीवन बिताने के उपाय भी बताये गए हैं। 

अवस्था और आयु में कुल मिलाकर मुख्य अंतर

🏋🏻 कुल मिलाकर इन दोनों में सूक्ष्म अंतर यहीं हैं कि, आयु समस्त जीवन काल है, जबकि अवस्था आयु का वह भाग है, जितना उस समय तक बीत चुका है,

जैसे- 18 वर्ष की अवस्था में ही उसने भाग कर शादी कर ली पर जल्दी ही उससे उसका मोह भंग होने लग गया। 

🏋🏻 आयु का इस्तेमाल किसी भी चीज़ के जीवन काल के संदर्भ में होता है, जबकि अवस्था का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की स्थितियों में होता है।

🏋🏻 इस तरह से हम कह सकते हैं कि इस्तेमाल की दृष्टि से अवस्था का क्षेत्र आयु से थोड़ा व्यापक है।

🚴🏻‍♂️🚴🏻‍♂️

उम्मीद है आप अवस्था और आयु में अंतर को समझ गए होंगे, इसे यहाँ से डाउन लोड करें

For more key differences – click here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *